विदेशी मुद्रा बाजार के घंटे समझाया गया

Finance and economics explained simply
विदेशी मुद्रा बाजार के घंटे समझाया गया

विदेशी मुद्रा व्यापार हाल के वर्षों में तेजी से लोकप्रिय हो गया है, दुनिया भर के लाखों व्यापारी इस आकर्षक बाजार में भाग ले रहे हैं। हालांकि, ट्रेडिंग फॉरेक्स को बाजार की क्षमता को भुनाने के लिए अपने व्यापारिक घंटों, सत्रों और छुट्टियों के ज्ञान की आवश्यकता होती है।

विदेशी मुद्रा बाजार दिन में 24 घंटे, सप्ताह में पांच दिन संचालित होता है, जिससे यह दुनिया भर के विभिन्न समय क्षेत्रों के व्यापारियों के लिए सुलभ हो जाता है। विदेशी मुद्रा व्यापार के घंटों, सत्रों और छुट्टियों को समझना आपको एक ट्रेडिंग रणनीति विकसित करने में मदद कर सकता है जो आपके शेड्यूल के साथ संरेखित होता है और आपके मुनाफे को अधिकतम करता है।

विदेशी मुद्रा बाजार के घंटे

विदेशी मुद्रा बाजार दिन में 24 घंटे, सप्ताह में पांच दिन संचालित होता है, जिसमें ट्रेडिंग सत्र रविवार को शाम 5:00 बजे शुरू होते हैं और शुक्रवार को शाम 5:00 बजे समाप्त होते हैं। हालांकि, सभी ट्रेडिंग घंटे समान नहीं बनाए जाते हैं। बाजार के परिचालन घंटों को तीन प्रमुख सत्रों में विभाजित किया गया है: एशियाई, यूरोपीय और उत्तरी अमेरिकी सत्र।

एशियाई सत्र

एशियाई सत्र रविवार को शाम 5:00 बजे शुरू होता है और 2:00 बजे समाप्त होता है। इस सत्र में जापान, चीन, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड का दबदबा है। टोक्यो एशिया का सबसे बड़ा वित्तीय केंद्र है, जो वैश्विक विदेशी मुद्रा व्यापार मात्रा का 20% से अधिक है।

इस सत्र के दौरान, येन (जेपीवाई) और ऑस्ट्रेलियाई डॉलर (एयूडी) सबसे सक्रिय रूप से कारोबार करने वाली मुद्राएं हैं, कुछ व्यापारी न्यूजीलैंड डॉलर (एनजेडडी) और चीनी युआन (सीएनवाई) का भी कारोबार करते हैं।

यूरोपीय सत्र

यूरोपीय सत्र 3:00 बजे शुरू होता है और दोपहर 12:00 बजे समाप्त होता है। इस सत्र में लंदन का वर्चस्व है, जो विश्व स्तर पर सबसे बड़ा विदेशी मुद्रा व्यापार केंद्र है, जो बाजार के दैनिक व्यापार की मात्रा का 40% से अधिक है।

इस सत्र में अन्य प्रमुख वित्तीय केंद्रों में फ्रैंकफर्ट, ज्यूरिख और पेरिस शामिल हैं। यूरो (EUR), ब्रिटिश पाउंड (GBP), और स्विस फ्रैंक (CHF) इस सत्र के दौरान सबसे सक्रिय रूप से कारोबार करने वाली मुद्राएं हैं।

उत्तर अमेरिकी सत्र

उत्तरी अमेरिकी सत्र खुलने वाला अंतिम सत्र है, जो सुबह 8:00 बजे शुरू होता है और शाम 5:00 बजे समाप्त होता है। इस सत्र में न्यूयॉर्क का वर्चस्व है, जो दूसरा सबसे बड़ा विदेशी मुद्रा व्यापार केंद्र है, जो बाजार के दैनिक व्यापार की मात्रा का 20% से अधिक है।

इस सत्र में अन्य वित्तीय केंद्रों में टोरंटो और शिकागो शामिल हैं। अमेरिकी डॉलर (USD) और कनाडाई डॉलर (CAD) इस सत्र के दौरान सबसे सक्रिय रूप से कारोबार करने वाली मुद्राएं हैं।

विदेशी मुद्रा बाजार घंटे 1 छवि

विदेशी मुद्रा छुट्टियां

विदेशी मुद्रा अवकाश वे दिन होते हैं जब बैंक और विदेशी मुद्रा बाजार सहित वित्तीय संस्थान बंद होते हैं। ये छुट्टियां विदेशी मुद्रा व्यापार के घंटों और व्यापारिक गतिविधि को प्रभावित कर सकती हैं, जिससे किसी भी असुविधा से बचने के लिए उन पर नज़र रखना आवश्यक हो जाता है। विदेशी मुद्रा बाजार कई छुट्टियों का पालन करता है, जिसमें विभिन्न देशों में राष्ट्रीय छुट्टियां और बैंक छुट्टियां शामिल हैं।

क्रिसमस और नए साल की छुट्टियां

क्रिसमस और नए साल की छुट्टियां विश्व स्तर पर सबसे महत्वपूर्ण विदेशी मुद्रा बाजार की छुट्टियां हैं। ये छुट्टियां लंदन और न्यूयॉर्क सहित प्रमुख वित्तीय केंद्रों में व्यापारिक गतिविधि को प्रभावित करती हैं, तरलता और ट्रेडिंग वॉल्यूम को कम करती हैं।

इन छुट्टियों के दौरान अपनी ट्रेडिंग रणनीति को समायोजित करना आवश्यक है, क्योंकि कम अस्थिरता और ट्रेडिंग वॉल्यूम के कारण ट्रेडिंग के अवसर सीमित हो सकते हैं।

ईस्टर की छुट्टियां

ईस्टर की छुट्टी मुख्य रूप से यूरोप में विदेशी मुद्रा व्यापार गतिविधि को भी प्रभावित करती है। इस छुट्टी में गुड फ्राइडे और ईस्टर सोमवार शामिल हैं, जो यूरोपीय व्यापार सत्र के दौरान तरलता और ट्रेडिंग वॉल्यूम को प्रभावित कर सकते हैं।

राष्ट्रीय अवकाश

राष्ट्रीय छुट्टियां, जैसे कि संयुक्त राज्य अमेरिका में स्वतंत्रता दिवस, विदेशी मुद्रा व्यापार गतिविधि को प्रभावित कर सकती हैं, मुख्य रूप से उस देश में जहां छुट्टी मनाई जाती है। ये छुट्टियां कम तरलता और ट्रेडिंग वॉल्यूम का कारण बन सकती हैं, जिससे आपकी ट्रेडिंग रणनीति को तदनुसार समायोजित करना आवश्यक हो जाता है।

विदेशी मुद्रा व्यापार करने का सबसे अच्छा समय कब है?

विदेशी मुद्रा व्यापार करने का सबसे अच्छा समय बाजार की अस्थिरता, तरलता और भौगोलिक स्थिति सहित कई कारकों पर निर्भर करता है। प्रत्येक ट्रेडिंग सत्र में अद्वितीय विशेषताएं होती हैं जो आपकी ट्रेडिंग रणनीति को प्रभावित कर सकती हैं।

अस्थिरता

अस्थिरता इस बात का एक उपाय है कि किसी विशेष अवधि में मुद्रा जोड़ी की कीमत में कितना उतार-चढ़ाव होता है। उच्च अस्थिरता व्यापारियों के लिए जल्दी से लाभ कमाने के अवसर प्रस्तुत करती है, जबकि कम अस्थिरता एक शांत बाजार प्रस्तुत करती है जो दीर्घकालिक व्यापारिक रणनीतियों के लिए अधिक उपयुक्त हो सकती है।

यूरोपीय और उत्तरी अमेरिकी सत्र आम तौर पर सबसे अस्थिर होते हैं, प्रमुख आर्थिक समाचार रिलीज बाजार की कीमतों को प्रभावित करते हैं।

द्रवता

तरलता महत्वपूर्ण मूल्य आंदोलनों के बिना बड़े व्यापार की मात्रा को सुविधाजनक बनाने के लिए बाजार की क्षमता को संदर्भित करता है। उच्च तरलता व्यापारियों के लिए ट्रेडों में आसानी से प्रवेश करने और बाहर निकलने के अवसर प्रस्तुत करती है, जिससे मूल्य फिसलन का जोखिम कम हो जाता है।

उत्तरी अमेरिकी व्यापार सत्र में आमतौर पर उच्चतम तरलता होती है, जिससे यह विदेशी मुद्रा व्यापारियों के लिए सबसे लोकप्रिय सत्र बन जाता है।

भौगोलिक स्थिति

विदेशी मुद्रा व्यापार करने के लिए सबसे अच्छा समय चुनते समय भौगोलिक स्थिति एक आवश्यक कारक है। विभिन्न समय क्षेत्रों में व्यापारियों के पास अलग-अलग ट्रेडिंग सत्र हो सकते हैं जो उनके कार्यक्रम के साथ संरेखित होते हैं। विभिन्न ट्रेडिंग सत्रों को समझना आपको अपनी ट्रेडिंग रणनीति के लिए सबसे उपयुक्त सत्र चुनने में मदद कर सकता है।

समाप्ति

अंत में, विदेशी मुद्रा व्यापार के घंटे, सत्र और छुट्टियों को समझना किसी भी विदेशी मुद्रा व्यापारी के लिए आवश्यक है। विदेशी मुद्रा बाजार दिन में 24 घंटे, सप्ताह में पांच दिन संचालित होता है, जिसमें तीन प्रमुख व्यापारिक सत्र होते हैं: एशियाई, यूरोपीय और उत्तरी अमेरिकी।

प्रत्येक ट्रेडिंग सत्र में अद्वितीय विशेषताएं होती हैं जो अस्थिरता और तरलता सहित आपकी ट्रेडिंग रणनीति को प्रभावित कर सकती हैं। इसके अतिरिक्त, विदेशी मुद्रा छुट्टियां व्यापारिक गतिविधि को प्रभावित कर सकती हैं और आपकी ट्रेडिंग रणनीति विकसित करते समय ध्यान में रखा जाना चाहिए। इन कारकों पर विचार करके, आप विदेशी मुद्रा व्यापार करने और अपने मुनाफे को अधिकतम करने के लिए सबसे अच्छा समय चुन सकते हैं।

Related Posts
Next Live Webinar
Hours
Minutes
Seconds
Image

( UAE )